History of Lord Ganesha 1000 वर्ष से अधिक पुराना भगवान गणेश का मूर्ति

छत्तीसगढ़ में 1000 वर्ष से अधिक पुराना भगवान गणेश का मूर्ति

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले के पास मिदकुल्नर गाँव में स्थित ढोलकल पहाड़ी में विराजित है छत्तीसगढ़ का गणेश भगवान का मूर्ति |यह मूर्ति समुद्रतल से 2994 फीट की ऊँचाई पर एक पहाड़ी में स्थापित है |इस पहाड़ में गणेश भगवान की 3 फीट का अति सुन्दर मूर्ति बना हुआ है | इस भगवान को ढोलकल गणेश के नाम से प्रसिद्ध है | जिसकी दर्शन करने पूजा आरती करने दुर दुर से आते है

यह नाम क्यों पड़ा जाने 👉

माना जाता है की 11 वी शताब्दी में भगवान गणेश और भगवान परशुराम दोनों के बीच में यूध्द हुआ था | तथा भगवान परशुराम भगवान परशुराम ऋषि जमदग्नि और रेणुका के पुत्र थे. परशुराम को न्याय का देवता माना जाता है. वह अपने माता-पिता के आज्ञाकारी पुत्र थे|

यह भी पढ़े –श्री विष्णु भगवान मंदिर ओटेबंद SREE VISHNU TEMPLE OTEBAND

इस युद्ध में गणेश भगवान का दांत टूट गया था |

इस लिए इस पहाड़ी के पास स्थित गाँव को गुप्दिलंका के नाम से जाना जाता है |

यह गणेश भगवान का मूर्ति 1000 साल पुराना मंदिर है | यहाँ के लोग साल के 12 महिना गणेश भगवान का पूजा करते है | मिदकुल्नर गाँव के लोग गणेश भगवान को देवता मानते है |

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *