देवधारा जलप्रपात ( छत्तीसगढ़ में राम-सीता का वनवास जगह )

छत्तीसगढ़ प्राकृतिक द्वश्यो से एक संपन्न राज्य है जिसका अपनी प्राकृतिक छटा अपने आप में अनोखा है कहीं पर नदी कहीं पर पर्वत तो कहीं पर राष्ट्रीय उद्यान उपस्थित हैं जो छत्तीसगढ़ में होने वाले महत्वपूर्ण एग्जाम cgpsc , cgvyapam आदि ।

1. देवधरा जलप्रपात की पुरी जानकारी

देवधरा जलप्रपात 200 फीट की ऊंचाई से नीचे की ओर गिरता है यह बहुत ही खूबसूरत और मनमोहक लगता है और यह जलप्रपात छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले के मैनपुर तहसील के पास उपस्थित है यहां पर जलप्रपात कल कल करने की आवाज मन को बहुत ही मोहित करता है और देव धारा जलप्रपात को देव स्थल के नाम से जाना जाता है | गाँव के बुजुर्गो से पता चला है की इस जगह पर राम लक्ष्मण और सीता वनवास के समय यहाँ पर रुके थे | इस पर राम – लक्ष्मण के पैरो के निशान भी उपस्थित है |

2. देवधारा जलप्रपात जाए तो क्या करे

देवधारा जलप्रपात छत्तीसगढ़ के खूबसूरत जलप्रपातो में से एक है और जलप्रपात के आस-पास बड़े-बड़े चट्टान और घने जंगल है और प्रकृति का अदभुत दृश्य यहा पर उपस्थित हैं जिसे देखकर आप के मन को शांति महसूस होगा है और यहां पर हर साल लाखो की संख्या में लोग आते हैं और यहां पर पिकनिक और मस्ती , फिशिंग , बोटिंग, आदि चीजें करते हैं

नोट:- यह जगह खुबसुरत होने के साथ – साथ ही यह बहुत खतरनाक भी है इस जगह जाने पर आप बहुत सावधान रहे |

3. देवधारा जलप्रपात देखने के लिए सबसे अच्छा मौसम

छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध जलप्रपा बातों में से एक है इस जलप्रपात में साल भर जल बहता है जलप्रपात को देखने के लिए अक्टूबर से अप्रैल माह तक अच्छा होता है |

4.देवधारा जलप्रपात तक जाने का मार्ग

जलप्रपात तक जाने के लिए सड़क मार्ग उपलब्ध है और जलप्रपात जाने का समय सुबह 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक सही समय है |

5 . जलप्रपात की दुरी

मैनपुर से करीब 30 कि.मी. की दुरी पर देवधारा जलप्रपात स्थित है

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *