Knowledge of Indian history||

भारतीय इतिहास की जानकारी के माध्यम

भारत का प्राचीन इतिहास गौरवपूर्ण रहा है इसकी जानकारी के स्रोत माध्यम अत्यधिक विस्तृत हैं जिन्हें एक सूत्र में पिरोने में भारतीय इतिहासकारों को लंबे अनुसंधान से गुजरना पड़ा है|

इतिहास केवल घटनाओं का वर्णन नहीं है बल्कि यहां सामाजिक आर्थिक तथा बौद्धिक परिवर्तनों को भी रेखांकित किया जा सकता है उत्पादन के साधनों तथा उनके पारस्परिक संबंधों के विवरण से हमें प्राचीन भारतीय इतिहास के जीवन के रहन-सहन का ज्ञान होता है|

प्राप्त स्रोतों का विवरण

ऐतिहासिक क्रम बाध्यता को प्रभावी रूप देने के लिए विद्वानों ने स्रोतों को तीन भागों में विभाजित किया है

पुरातात्विक स्रोत

साहित्यिक स्रोत

विदेशी रचनाकारों तथा यात्रियों की रचनाएं

पुरातात्विक स्रोत

भारत अपने पुरातात्विक अवशेषों के कारण जाना जाता है देश के विभिन्न हिस्सों में हुए उत्खनन से इसके महत्व को पता चलता है प्राचीन भारत के इतिहास को जानने के लिए इसे पुरातात्विक स्रोतों मैं प्रमुख है

अभिलेख स्मारक मुद्राएं मुहरे मूर्तियां चित्रकला

साहित्यिक स्रोत

वैदिक साहित्य

बौद्ध साहित्य

जैन साहित्य

धर्मेंदतर साहित्य

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *