Dhara reserve forest Dongargarh ||धारा अभ्यारण डोंगरगढ़

छत्तीसगढ़ प्राकृतिक  द्वश्यो  से एक संपन्न राज्य है जिसका अपनी प्राकृतिक छटा अपने आप में अनोखा है कहीं पर नदी कहीं पर पर्वत तो कहीं पर राष्ट्रीय उद्यान उपस्थित हैं धारा फारेस्ट राजनंदगाव रेंज पर है।

1- धारा फारेस्ट को पूरी जानकारी

एक आरक्षित वन (जिसे आरक्षित वन भी कहा जाता है) या भारत में एक संरक्षित वन ऐसे शब्द हैं, जो वनों को संरक्षण की एक निश्चित डिग्री प्रदान करते हैं। यह शब्द पहली बार ब्रिटिश भारत में भारतीय वन अधिनियम, 1927 में लाया गया था, जिसका उल्लेख कुछ जंगलों को ब्रिटिश भारत में ब्रिटिश ताज के तहत सुरक्षा प्रदान करने के लिए किया गया था, लेकिन यह संबंधित नहीं था। भारतीय स्वतंत्रता के बाद, भारत सरकार ने मौजूदा आरक्षित और संरक्षित वनों की स्थिति को बरकरार रखा, साथ ही नए आरक्षित और संरक्षित वनों को शामिल किया। भारत के राजनीतिक एकीकरण के दौरान भारत सरकार के अधिकार क्षेत्र में आने वाले बड़ी संख्या में जंगलों को शुरू में ऐसी सुरक्षा प्रदान की गई थी। खर्रा एक आरक्षित वन है।

2- धारा फारेस्ट जाये तो क्या करे

छत्तीसगढ़ के खूबसूरत फारेस्ट में से एक है और फारेस्ट के आस-पास बड़े-बड़े चट्टान और घने जंगल है और प्रकृति का अदभुत दृश्य यहा पर उपस्थित हैं जिसे देखकर प्रेरकों के मन को शांति महसूस होता है  और यहां पर हजारों लोग बड़ी संख्या में आते हैं और यहां पर पिकनिक और मस्ती फिशिंग  बोटिंग आदि चीजें करते हैं ।

3-धारा फारेस्ट देखने का सही मौसम

छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध एवं सुंदर जंगलो मे से एक है धारा फारेस्ट को देखने के लिए अक्टूबर से मई माह तक का मौसम अच्छा होता है ।

4- धारा फॉरेस्ट तक पहुँचने का मार्ग

फारेस्ट तक जाने के लिए सड़क मार्ग और रेलवे मार्ग उपलब्ध है यहां आप अपनी फैमिली के साथ कार और अन्य साधनों से भी जा सकते हैं

  1. देश के अन्य प्रमुख शहरों (जैसे नई दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, बंगलौर, अहमदाबाद, रायपुर आदि) से राजनांदगांव के लिए नियमित ट्रेनें हैं। रेलवे स्टेशन का नाम है – राज नंदगाँव (RJN)
  2. राजनंदगाँव शहर राष्ट्रीय राजमार्ग से जुड़ा हुआ है। यह शहर NH 6 पर स्थित है। यह छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से 72 किलोमीटर दूर है और नागपुर (महाराष्ट्र) से 212 किलोमीटर दूर है।

5 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *