BIG BREAKING: CG इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर ने सभी परीक्षाओं के लिए जारी की आदेश

BIG BREAKING: CG इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर ने सभी परीक्षाओं के लिए जारी की आदेश

रायपुर, दिनांक 19 फरवरी, 20221 इंदिरा गांधी कृषि indira Gandhi krishi vidyalaya Raipur Chhattisgarh विश्वविद्यालय, रायपुर के अंतर्गत संचालित समस्त पाठ्यक्रमों (स्नातक, स्नातकोत्तर एवं पी-एच.डी.) की कक्षाएं आगामी सोमवार 21 फरवरी, 2022 से ऑफ लाईन माध्यम से संचालित की जाएगी। विश्वविद्यालय प्रशासन ने राज्य सरकार द्वारा जारी कोविड<19 के दिशा-निर्देशों के परिपेक्ष्य में यह निर्णय लिया है। विश्वविद्यालय के निदेशक शिक्षण द्वारा जारी आदेश के अनुसार चालू सेमेस्टर की परीक्षाएं भी ऑफ लाईन माध्यम में आयोजित की जाएगी। विभिन्न विषयों का सिलेबस पूर्ण करने के लिए नियमित कक्षाओं के अतिरिक्त प्रत्येक शनिवार एवं रविवार को भी सैद्धांतिक एवं प्रायोगिक कक्षाएं लगाई जाएंगी।

विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एस. एस. सेंगर ने इस संबंध में बताया कि विषयवार सिलेबस के पूर्ण होने की जानकारी अधिष्ठाता, प्राचार्य एवं विभागाध्यक्षों द्वारा निदेशक शिक्षण को भेजी जाएगी जिसके उपरान्त विश्वविद्यालय द्वारा परीक्षा की समय सारणी जारी की जायेगी। उन्होंने बताया कि पूर्व में स्नातक छात्रों के लिए जारी मिड टर्म टाईम टेबल एवं स्नातकोत्तर एवं पी-एच.डी. छात्रों के लिये जारी अंतिम सैद्धांतिक परीक्षाओं के टाईम टेबल को निरस्त कर दिया गया है। 21 फरवरी,< 2022 के पूर्व ऑन लाईन माध्यम से ली गई कक्षाएं एवं परीक्षाएं मान्य होगी। उन्होंने बताया कि सभी महाविद्यालय कोविड-19 संक्रमण से बचाव हेतु केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा जारी गाइड लाईन का पालन करते हुए शैक्षणिक कार्य सुनिश्चित करेंगे।

👉Join in WhatsApp Group 👈

कृषि विश्वविद्यालय में सोमवार से ऑफलाईन <कक्षाएं लगेंगी विभिन्न पाठ्यक्रमों की परीक्षाएं भी ऑफलाईन आयोजित की जाएगी सिलेबस पूर्ण करने के लिए शनिवार और रविवार को भी लगेंगी कक्षाएछत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में स्थित इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, कृषि शिक्षा, अनुसंधान< और प्रौद्योगिकियों के विस्तार की जिम्मेदारी के साथ राज्य में एकमात्र कृषि विश्वविद्यालय है, इसका इस क्षेत्र के आदिवासी कृषक समुदाय के लिए सेवाओं का एक प्रतिष्ठित और लंबा इतिहास है। विश्वविद्यालय के उद्देश्य हैं, कृषि और अन्य संबद्ध विज्ञानों में शिक्षा के लिए प्रावधान करना, कृषि और अन्य संबद्ध विज्ञानों में अनुसंधान करना, क्षेत्र विस्तार कार्यक्रम शुरू करना और ग्रामीण लोगों के जीवन स्तर में सुधार करना। IGKV का अधिकार क्षेत्र संपूर्ण राज्य है जिसमें तीन अलग-अलग कृषि-जलवायु क्षेत्र हैं और विविध स्थितियां हैं।

बस्तर क्षेत्र देश के आठ जैव विविधता वाले हॉट स्पॉट में से एक है। विश्वविद्यालय को दुनिया में सबसे महत्वपूर्ण जैव विविधता भंडार में से एक के रूप में मान्यता प्राप्त है, विशेष रूप से चावल और लैथिरस के लिए शिक्षण अपने 33 घटक और 15 संबद्ध कॉलेजों के माध्यम से कृषि और <कृषि इंजीनियरिंग संकायों में प्रदान किया जाता है। विभिन्न क्षेत्रों में अनुसंधान करने वाले नौ अनुसंधान केंद्र हैं, और 27 कृषि विज्ञान केंद्र राज्य के कृषक समुदाय के लिए प्रौद्योगिकियों के प्रसार में शामिल हैं।

👉 Join in WhatsApp Group 👈

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: