BIG BREAKING: CM भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ की सभी स्कूलों के लिए जारी की आदेश!

BIG BREAKING: CM भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ की सभी स्कूलों के लिए जारी की आदेश!

स्कूलों और शैक्षणिक संस्थाओं में गर्मी की छुट्टी के दिनों में किए गए बदलाव का शिक्षकों ने स्वागत किया है। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा गर्मी के दिनों में आगामी शैक्षणिक सत्र 01 मई से 15 दिन के< अतिरिक्त शैक्षणिक कार्य के लिए प्रारंभ किया जाएगा। दरअसल कोरोना संकटकाल में स्कूलों की पढ़ाई काफी प्रभावित रही है, इसे देखते हुए छात्रों के व्यापक हित को देखते हुए ग्रीष्मकालीन अवकाश में बदलाव किया गया है। cg board exam

सभी शिक्षकों को कोरोना संकटकाल के दौरान जिन विद्यार्थियों की लर्निंग आऊट कम रही है। उन बच्चों को बढ़े हुए शैक्षणिक सत्र में विशेष ध्यान देने के निर्देश< शिक्षा विभाग द्वारा दिए गए हैं। ग्रीष्मकालीन अवकाश में न केवल बदलाव की गई है, बल्कि शैक्षणिक संस्थाओं में शिक्षण सत्र को बढ़ाया गया है, जिससे कोरोना संकटकाल में छात्रों की पढ़ाई में हुई कमी की भरपाई हो सके।

चांपा-जांजगीर जिले के शिक्षक श्री राजेश कुमार सूर्यवंशी का कहना है कि कोरोना संकटकाल में कई बच्चे पढ़ाई-लिखाई की मुख्यधारा से दूर हो चुके थे, उन्हें फिर से< मुख्यधारा में लाने में शिक्षा विभाग के द्वारा ग्रीष्मकालीन अवकाश में बदलाव से काफी लाभ होगा। जिला बालोद की शिक्षिका कुमारी भगवती ठाकुर का कहना है कि इससे बच्चों के शिक्षा के स्तर को बढ़ाने में मदद मिलेगी।

बेमेतरा जिले के शिक्षक श्री आनंद कुमार ताम्रकर का मानना है कि 15 दिन के अतिरिक्त शैक्षणिक कार्य से बच्चों से सीधे संवाद करने का समय मिलेगा। इन दिनों का उपयोग <बच्चों में शैक्षणिक अभिरूचि जागृत करने के लिए प्रयास किया जाएगा। कांकेर जिले की शिक्षिका श्रीमती ममता सोनी ने स्कूल शिक्षा विभाग के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि ऑनलाईन शिक्षण के कारण बच्चों में पढ़ाई के प्रति आई कमियों को दूर करने के लिए प्रयास किया जाएगा।

कोरबा जिले के शिक्षक श्री शांतिलाल कश्यप का मानना है कि इस बढ़े हुए समय में बच्चों को अगली कक्षाओं के लिए तैयारी कराई जाएगी। बलौदाबाजार-भाठापारा जिले के शिक्षक श्री कान्हा साहू का कहना है कि बढ़े हुए दिनों में बच्चों को गणित का भय दूर करने के <लिए विशेष प्रयास करेंगे। जांजगीर-चांपा जिले के शिक्षक श्री मणिशंकर साहू का कहना है कि इस अवधि में शिक्षकों और बच्चों के बीच दूरियों को कम करने में मदद मिलेगी।

गौरतलब है कि राज्य शासन द्वारा शिक्षा सत्र 2021-22 में शासकीय, अनुदान प्राप्त, गैर अनुदान प्राप्त स्कूलों और बीएड, डीएड, एमएड कॉलेजों के लिए ग्रीष्मकालीन अवकाश में संशोधन किया गया है। जिसके अनुसार अब शैक्षणिक संस्थाओं में 15 मई 2022 से 15 जून 2022 तक कुल 32 दिनों का ग्रीमष्कालीन <अवकाश रहेगा। इसी प्रकार वर्तमान शैक्षणिक सत्र 31 मार्च के स्थान पर 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया है। आगामी शैक्षणिक सत्र 01 मई 2022 से 15 दिन के अतिरिक्त शैक्षणिक कार्य के लिए प्रारंभ किया जाएगा।

👉Join in WhatsApp Group 👈

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: