✅ पं. रविशंकर विश्वविद्यालय मे ऑफलाइन मोड पर ही होंगी परीक्षाएं – विवि कुलपति

पं. रविशंकर विश्वविद्यालय मे ऑफलाइन मोड पर ही होंगी परीक्षाएं – विवि कुलपति

बीए, बीकॉम, बीएससी समेत ग्रेजुएशन की परीक्षाएं 16 अप्रैल से शुरू होगी। जबकि पीजी की परीक्षाएं 18 अप्रैल से शुरू होगी। पं. रविशंकर शुक्ल विवि ने वार्षिक परीक्षा 2022 के टाइम टेबल घोषित कर दिया है। परीक्षा ऑफलाइन <मोड में होगी। छात्रों की ओर से ऑनलाइन मोड में परीक्षा की मांग की थी, लेकिन विवि ने यह साफ कर दिया है कि छात्रों को सेंटर में आकर पेपर लिखना होगा।

Join in WhatsApp Group 👈

वार्षिक परीक्षा के लिए रविवि को इस बार करीब 1.82 लाख आवेदन मिले हैं। कोरोना काल में विवि की परीक्षाएं ऑनलाइन मोड में हुई। छात्रों ने घर से पेपर <लिखकर जमा किया। इसका असर रिजल्ट पर भी पड़ा। अधिकांश कक्षाओं में 90 प्रतिशत से अधिक छात्र पास हुए। इस बार भी ऑनलाइन मोड में परीक्षा की उम्मीद पर बड़ी संख्या में छात्रों ने आवेदन किए। पिछली बार की तुलना में इस बार करीब 35 हजार ज्यादा फार्म मिले।

इनमें प्राइवेट से परीक्षा देने वाले छात्रों की संख्या अधिक है। लेकिन यूनिवर्सिटी ऑफलाइन परीक्षा की तैयारी में है। टाइम टेबल में ही सेंटर में परीक्षा होने का उल्लेख किया गया है। अफसरों का कहना है कि कोरोना को लेकर पहले की स्थितियां अलग थी। <कॉलेज व यूनिवर्सिटी कई महीनों तक बंद थे। ऑफलाइन कक्षाएं नहीं हुई। इसलिए ऑनलाइन मोड में पेपर हुए थे। लेकिन इस बार परिस्थिति अलग है। कॉलेजों में ऑफलाइन पढ़ाई हुए। कोर्स भी पूरे हो चुके हैं। इसलिए सेंटर में परीक्षा होगी। Govt job

बीए में परीक्षार्थी ज्यादा रविवि की वार्षिक परीक्षा में इस बार कुल 1.82 लाख परीक्षार्थी हैं। इसमें बीए में परीक्षार्थियों की संख्या अधिक है। बीए की परीक्षा के लिए करीब 85 हजार छात्रों के आवेदन मिले हैं। बीकॉम के लिए 27 हजार< और बीएससी के लिए 35 हजार छात्रों के आवेदन मिले हैं। एमए. इंग्लिश के लिए 6 हजार, एमए हिंदी के लिए 7 हजार, एमए पॉलिटिकल साइंस की परीक्षा के लिए करीब 5 हजार छात्रों ने आवेदन किया है।

Download Time table 👉 Link 👈

3 thoughts on “✅ पं. रविशंकर विश्वविद्यालय मे ऑफलाइन मोड पर ही होंगी परीक्षाएं – विवि कुलपति”

  1. Chitransh kalihari

    कभी कॉलेज में जाकर छात्रों से पूछा है की कोर्स पूरा हुआ है की नही??
    कोर्स ऑफलाइन 2 महीने तक चला है उसमे भी 20-25 दिनों की चुनाव, त्यौहार की छुट्टी। क्या घटिया education system है। ये जो भी देश में छात्रों के साथ हो रहा है इसका सबसे ज्यादा नुकसान देश को है।
    सभी नेताओं और अधिकारियों को मुबारक इस देश की आने वाली पीढ़ी डिग्री पाए हुए अनपढ़ कहलाएगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: