प्रदेश में 171 स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय के लिए जारी हुई आदेश : CM भूपेश बघेल

प्रदेश में 171 स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय के लिए जारी हुई आदेश : CM भूपेश बघेल

प्रदेश में 171 स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय संचालित किये जा रहे है तथा रात्र 2022-23 से 32 स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट हिन्दी गाध्यम विद्यालय संचालित किया < जाना है। उक्त दोनो स्कूलों में शिक्षा सत्र 2022-23 के लिए कक्षाओं में छात्र-छात्राओं को प्रवेश दिया जाना है। जिस हेतु निम्नानुसार कार्यवाही की जावे :

A. स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय में एडमिशन हेतु निम्न निर्देशों का पालन करना

सुनिश्चित करेंगे : 1. इन विद्यालयों में प्रवेश हेतु आवेदन ऑनलाईन तथा ऑफलाईन दोनों माध्यमों से किया जा सकेगा।

2. एक विद्यार्थी एक विद्यालय हेतु ही आवेदन कर सकेगा।

3. स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों में राज्य में पूर्व से चल रहे 152 प्राथमिक तथा 153 पूर्व माध्यमिक शालाओं के छात्र-छात्राओं को कक्षा 6 वीं एवं कक्षा 9वीं < में प्राथमिकता से एडमिशन दिया जाये।

4. मान, मुख्यमंत्री जी के घोषणा अनुसार “महतारी दुलार योजना अंतर्गत कोरोना महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों को विशेष प्राथमिकता से प्रवेश दिया जायेगा। एडमिशन < हेतु आवेदन पत्र के साथ पालक का मृत्यु प्रमाण पत्र संलग्न किया जाना अनिवार्य होगा

5. प्रत्येक कक्षा में रिक्त सीट का 50 प्रतिशत छा < त्राओं का चयन किया जायेगा। बालिकाओं की पर्याप्त संख्या नहीं मिलने पर बालकों से सीट भरी जा सकेगी।

6. बी.पी.एल. एवं आर्थिक रूप से कमजोर पालकों < के बच्चों को कुल रिक्त सीट के 25 प्रतिशत सीटों के विरूध्द प्रवेश दिया जाएगा। पालकों को सक्षम अधिकारी द्वारा जारी आय प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा।

7. कुल रिक्त पदों के 25 प्रतिशत सीटों पर आवेदक बच्चों का < प्रवेश लॉटरी सिस्टम से होगा अर्थात कम्प्यूटर के माध्यम से रेंडमली चयन किया जायेगा।

8. रिक्त सीट के विरुध्द अधिक मात्र आवेदक होने < पर लॉटरी से चयन किया जायेगा। 9. कक्षा पहली में प्रवेश हेतु विद्यार्थी की आयु 31 गई 2022 की स्थिति में 5 वर्ष 6 माह से 6 वर्ष 6 माह के मध्य होनी चाहिये।

B. स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट हिन्दी माध्यम विद्यालय में एडमिशन हेतु निम्न निर्देशों का पालन करना

सुनिश्चित करेंगे :

1. इन विद्यालयों में प्रवेश हेतु आवेदन ऑनलाईन तथा ऑफलाईन दोनों माध्यमों से किया जा सकेगा।

2. उसी विद्यालय में पूर्व से अध्ययनरत छात्रों को अगली कक्षा में प्रवेश हेतु आवेदन की आवश्यकता नहीं होगी।

3. एक विद्यार्थी एक विद्यालय हेतु ही आवेदन कर सकेगा।

4. मान. मुख्यमंत्री जी के घोषणा अनुसार “महतारी दुलार योजना अंतर्गत कोरोना महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों को विशेष प्राथमिकता से प्रवेश दिया जायेगा। एडमिशन हेतु आवेदन < पत्र के साथ पालक का मृत्यु प्रमाण पत्र संलग्न किया जाना अनिवार्य होगा।

5. कन्या विद्यालयों को छोड़ कर शेष विद्यालयों में राह शिक्षा होगी तथा इनकी प्रत्येक कक्षा में रिक्त सीट का 50 प्रतिशत छात्राओं का चयन किया जायेगा। बालिकाओं की पर्याप्त< संख्या नहीं मिलने पर बालकों से सीट भरी जा सकेगी।

6. बी.पी.एल. एवं आर्थिक रूप से कमजोर पालकों के बच्चों को कुल रिक्त सीट के 25 प्रतिशत सीटों के विरुध्द प्रवेश दिया जाएगा। पालकों को सक्षम अधिकारी द्वारा जारी आय< प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा। 25 प्रतिशत से अधिक प्रवेश हेतु आवेदन प्राप्त होने पर लॉटरी सिटस्टम से होगा अर्थात कम्प्यूटर के माध्यम से रेंडमली चयन किया जायेगा।

7. स्कूल की क्षमता अनुसार प्रवेश देने का अधिकार कलेक्टर की अध्यक्षता वाले सोसायटी को होगा।

8. कुल रिक्त पदों के 25 प्रतिशत सीटों पर आवेदक <बच्चों का प्रवेश लॉटरी सिस्टम से होगा अर्थात कम्प्यूटर के माध्यम से रेंडमली चयन किया जायेगा।

9. इन विद्यालयों में कक्षा 6वीं एवं कक्षा 9वीं में प्रवेश सोसायटी के निर्णय अनुसार लिये जायेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: